• Home
  • अवैध बांधों को पर दो साल रहे मौन, दिल्ली के हस्तक्षेप पर जागे

अवैध बांधों को पर दो साल रहे मौन, दिल्ली के हस्तक्षेप पर जागे

जागरणसंवाददाता,यमुनानगर:उप्रऔरहरियाणाकेबीचोंबीचगुजररहीयमुनानदीपरखननठेकेदारोंनेमनमर्जीसेबांधबनालिए।इनकीजानकारीअफसरोंकोपहलेसेहीथी,लेकिनकार्रवाईकरनामुनासिबनहींसमझा।सिचाईविभागवखननविभागकेबीचनवंबर-2017मेंपत्रव्यवहारहोचुकाहै।दैनिकजागरणकोसंबंधितपत्रमिलाहै।दोवर्षतकअधिकारीकार्रवाईकरनेसेबचतेरहे।अबदिल्लीजलबोर्डकेसख्तीकेबादआनन-फाननमेंबांधोंकोतोड़ाजारहाहै।कनालसी,मंडोलीऔरबीबीपुरमेंपुलवगुमथलामेंबनेबांधकोतोड़ाजाचुकाहै।इसमामलेमेंचारएफआइआरहोचुकीहै।ऐसाभीहोताथा

यमुनानदीपरबनेअस्थायीपुलोंऔरबांधसेकेवलरेतकेभरेवाहनहीनहींनिकलतेथे,बल्किअन्यवाहनोंसेभीशुल्कलियाजाताहै।अलग-अलगवाहनकेलिएशुल्ककीराशिभीअलग-अलगनिर्धारितथी।इनपुलोंऔरबांधोंसेहरियाणाऔरउप्रकीओरआवागमनहोताथा।बतादेंकिहरियाणाकेकईगांवोंकीजमीनयमुनाकेउसपारहै।स्थायीपुलनहींहोनेकेकारणइनसेगुजरनाकिसानोंकीभीमजबूरीथी।अनाजऔरघासलेकरइन्हींपुलोंकेजरियेआना-जानापड़ताथा।प्राकृतिकबहावरुकनेसेकटाव

खननठेकेदारोंनेअपनीमर्जीसेयमुनानदीपरपुलऔरबांधबनाकरप्राकृतिकबहावकोरोकागया।इससेअवैधखननतोहुआहीसाथहीभूमिकटावभीहुआहै।मानसूनसीजनमेंपानीकेतेजबहावसेसैकड़ोंएकड़जमीनयमुनामेंसमागई।इससेकिसानोंकोभारीनुकसानहुआहै।यदिअधिकारीसमयरहतेसंज्ञानलेतेतोनुकसानकीसंभावनाकमहोसकतीथी।इसबारेनतोखननविभागनेकार्रवाईकीऔरनसिचाईविभागनेसंज्ञानलिया।पहलेहोनीचाहिएथीकार्रवाई

अवैधखननकेखिलाफहाईकोर्टमेंजनहितयाचिकाडालचुकेएडवोकेटवरयामसिंहऔरपूर्वजिलापरिषदसदस्यशिवकुमारसंधालाकाकहनाहैकियमुनानदीपरअवैधपुलऔरबांधोंकेबारेमेंअधिकारियोंकोपहलेहीजानकारीथी।कार्रवाईकरनेकीजहमतनहींउठाई।यहकार्रवाईदोवर्षपहलेहोनीचाहिएथी।उनकाकहनाहैकिअवैधखननकरनेवालोंकेखिलाफभीकार्रवाईकीजानीचाहिए।

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप