• Home
  • बैंकों का डर, दिसंबर के पहले हफ्ते में फिर मचेगी कैश की मारामारी

बैंकों का डर, दिसंबर के पहले हफ्ते में फिर मचेगी कैश की मारामारी

सलोनीशुक्ला/आत्मदीपरे,नईदिल्ली/कोलकातापिछलेदोदिनोंमेंनोटबंदीकीवजहसेबैंकोंमेंपहुंचनेवालेलोगोंकीलाइनदेशकेकईइलाकोंमेंछोटीहुईहै,लेकिनसीनियरबैंकरोंकोडरहैकिदिसंबरकेपहलेहफ्तेमेंकैशकीमारामारीफिरसेबढ़सकतीहै।बैंकोंकामाननाहैकिजबमहीनेकीशुरुआतमेंलोगोंकोअपनेबिलचुनानेहोंगेतबउन्हेंज्यादाकैशकीजरूरतहोगी।मुंबईकीएकप्राइवेटबैंककेटॉपएग्जिक्युटिवनेनामनहींजाहिरकरनेकीशर्तपरबताया,‘मुझेनहींलगताकिबैंकब्रांचोंकेआगेकीभीड़बहुतजल्दकमहोगी।हमेंतोलगरहाहैकिदिसंबरकेपहलेहफ्तेमेंभीड़काफीबढ़सकतीहै।’हालांकिबैंककर्मियोंकोदिसंबरकेआखिरीहफ्तेमेंभीड़कमहोनेकीउम्मीदहै,लेकिनउसकेबादवालेहफ्तेमेंफिरसेकैशकीमारामारीमचसकतीहै।आईसीआईसीआईबैंकमेंरिटेलबैंकिंगकेहेडअनूपबागचीनेकहाकिएटीएमनेटवर्ककापूरीकपैसिटीकेसाथकामकरनाजरूरीहै।उन्होंनेकहा,‘अगरदेशकेसभी2.5लाखएटीएमपूरीकपैसिटीसेकामकरतेहैंतोहमइसभीड़सेबचसकतेहैं।’वहीं,इंडियाबैंक्सअसोसिएशनकेमुताबिकनोटबंदीकेबादपहलेतीनदिनोंमें30,000करोड़रुपयेसिस्टममेंडालेगएहैं।दिलचस्पबातयहहैकिआरबीआईकेडेटाकेमुताबिकलोगोंकेपास28अक्टूबरतक17,01,380करोड़रुपयेकीकरेंसीथी।इसकेएकहफ्तेबादप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेनोटबंदीकीघोषणाकीथी।सरकारके500और1,000रुपयेकेपुरानेनोटवापसलेनेकेऐलानकेबादसेबैंकोंपरकाफीदबावहै।देशभरमेंबैंकएंप्लॉयीदिनभरकामकररहेहैं।बैंकोंनेअपनेसेंट्रलऑफिसकेस्टाफकोभीब्रांचोंकेसामनेजुटनेवालीभीड़कोमैनेजकरनेमेंलगायाहुआहै।दूरदराजकेइलाकोंमेंबैंकप्रतिव्यक्ति1,000रुपयेयाउससेकमकैशभीदेरहेहैं,जबकिसरकारनेनोटएक्सचेंजकीलिमिटबढ़ाकर4,500रुपयेकरदीहै।गौरतलबहैकिसरकारदूरदराजकेइलाकोंमेंकरेंसीनोटभेजनेकेलिएहेलिकॉप्टर्सकीमददलेरहीहै।इसकेबावजूदनोटोंकीमांगइसकीसप्लाईकीतुलनामेंकमपड़रहीहै।मुंबईकेविलेपार्लेइलाकेकेएकसरकारीबैंककेब्रांचमैनेजरकाकहनाहै,‘हमेंनहींपताकिहमदिसंबरमेंसैलरीनिकालनेवालोंकोकैसेहैंडलकरपाएंगेजबकिपहलेहीभीड़कमहोनेकानामनहींलेरहीहै।’