• Home
  • रिजर्व बैंक के लिये वित्तीय समावेश उसकी नीतिगत प्राथमिकता में बना रहेगा: दास

रिजर्व बैंक के लिये वित्तीय समावेश उसकी नीतिगत प्राथमिकता में बना रहेगा: दास

मुंबई,15जुलाई(भाषा)भारतीयरिजर्वबैंक(आरबीआई)केगवर्नरशक्तिकांतदासनेबृहस्पतिवारकोकहाकिमहामारीकेबादपुनरूद्धारकोसमाताकारकऔरपरिस्थितिकीयअनुकूलबनानेकेलियेवित्तीयसमावेशनउसकीनीतिगतप्राथमिकतामेंबनारहेगा।वित्तीयसेमावेशनसेतात्पर्यवित्तीय/बैंकिंगसेवाओंकोउनलोगोंतकपहुंचानाहैजोअभीइससेवंचितहैं।दासनेइकोनॉमिकटाइम्सवित्तीयसमावेशशिखरसम्मेलनमेंकहाकिरिजर्वबैंकजल्दीहीपहलावित्तीयसमावेशसूचकांकजारीकरेगा।यहपहुंच,उपयोगऔरगुणवत्ताकेमामलेमेंप्रगतिकाआकलनकरेगा।आरबीआईगवर्नरकेअनुसारयहसुनिश्चितकरनेकीसभीपक्षोंकीजिम्मेदारीहैकिवित्तीयपरिवेश(डिजिटलमाध्यमसहित)समावेशीहो।साथयहउचितवित्तीयशिक्षाऔरजागरूकताकेमाध्यमसेगलततरीकेसेबिक्री,साइबरसुरक्षा,आंकड़ागोपनीयताजैसेजोखिमोंकोप्रभावीतरीकेसेदूरकरनेएवंऔरवित्तीयप्रणालीमेंविश्वासकोबढ़ावादेनेमेंसक्षमहो।लोगोंतकबैंककीपहुंचसुनिश्चितकरअर्थव्यवस्थाकोसंगठितरूपदेनेमेंमददकेलियेपिछलेदशककीशुरूआतसेवित्तीयसमावेशपरआरबीआईकाविशेषजोररहाहै।प्रौद्योगिकीनेइसेआसानबनायाऔरसरकारनेभीप्रधानमंत्रीजनधनयोजनाकीशुरूआतकरइसपरकाफीजोरदिया।दासनेकहा,‘‘महामारीकेबादपुनरूद्धारकोसमावेशीऔरटिकाऊबनानेकेलियेवित्तीयसमावेशहमारेलियेनीतियोंकेमोर्चेपरप्राथमिकतामेंरहेगी।’’उन्होंनेकहाकिदेशमेंवित्तीयसमावेशकीस्थितिकाआकलनकरनेकेलियेवित्तीयसमावेशसूचकांक(एफआईआई)तैयारकरनेऔरउसकानिश्चितअवधिपरप्रकाशितकरनेकानिर्णयकियागयाहै।इसबारेमेंकुछसमयपहलेफैसलाकियागयाथा।उन्होंनेकहाकिसूचकांकमेंपहुंच,उपयोगऔरगुणवत्तासहिततीनमानदंडहोंगे।‘‘एफआईआईपरकामचलरहाहैऔरसूचकांकबहुतजल्दरिजर्वबैंकद्वाराप्रकाशितकियाजाएगा।’’दासनेकहाकिवित्तीयसमावेशनिरंतरऔरसंतुलितआर्थिकविकासकाएकप्रमुखतत्वहै।यहअसमानताऔरगरीबीकोकमकरनेमेंमददकरताहै।जबहमइसमामलेमेंतेजीसेआगेबढ़रहेथे,महामारीनेनईचुनौतियांऔरजटिलताएंपैदाकीहैं।उन्होंनेकहा,‘‘हमारीअर्थव्यवस्थाकीआकांक्षाओंऔरजरूरतोंकोपूराकरनेकेलिएवित्तीयप्रणालीकीमहत्वपूर्णभूमिकाहोगी।’’गवर्नरनेकहाकिअबउपभोक्तासंरक्षणऔरग्राहकोंकीक्षमताबढ़ानेपरध्यानदेतेहुएकमजोरवर्गोंपरविशेषध्यानदियाजारहाहैताकिवित्तीयसेवाओंकाजिम्मेदारऔरटिकाऊउपयोगहासिलकियाजासके।उन्होंनेकहाकिआरबीआईकोवित्तीयसमावेशकेलिएचुनौतियोंकासामनाकरनापड़ाहै।इसमेंग्राहककीपहचान,अंतिमछोड़तकपहुंचनेऔरप्रासंगिकउत्पादप्रदानकरनेकीचुनौतीशामिलहैं।दासनेकहाकिमार्च2024तकदेशभरमेंवित्तीयसाक्षरताकेंद्र(सीएफएल)परियोजनाकोप्रखंडस्तरतकबढ़ानेसेवित्तीयसाक्षरताकादायराबढ़नेकीउम्मीदहै।उन्होंनेयहभीकहाकि15राज्यशिक्षाबोर्डनेवित्तीयशिक्षाकोअपनेपाठ्यक्रममेंशामिलकरनेकीसहमतिदीहैताकिबच्चोंकोमहत्वपूर्णविषयकीजानकारीमिलसके।दासनेकहा,‘‘बैंकखातोंकेसाथऋण,निवेश,बीमाऔरपेंशनसेजुड़ेउत्पादोंतकतेजीसेसभीतकपहुंचकीजरूरतहै।’’