• Home
  • सेंट्रल हिंदू ब्वायज स्कूल में बोले प्रो. सुधीर जैन, यह बीएचयू का जननी है, विवि के प्रोफेसर भी यहां आकर पढ़ाएं

सेंट्रल हिंदू ब्वायज स्कूल में बोले प्रो. सुधीर जैन, यह बीएचयू का जननी है, विवि के प्रोफेसर भी यहां आकर पढ़ाएं

जागरणसंवाददाता,वाराणसी:सेंट्रलहिंदूब्वायजस्कूल(सीएचबीएस)सबसेपुरानीसंस्थाहै।इसीसेबीएचयूकीउत्पतिहुईहै।इसलिएयहांपरबीएचयूमुख्यकैंपसकेप्रोफेसरोंकोआकरपढ़ानाचाहिए।कुछऐसीहीबातेंकाशीहिंदूविश्वविद्यालयकेनवागतकुलपतिप्रो.सुधीरकेजैननेकी।वेशनिवारकोकमछास्थितसीएचबीएसकादौराकरनेपहुंचेथे।इसदौरानउन्होंनेबच्चोंसेपूछा,बड़ेहोकरआपक्याबननाचाहतेहैं?इसपरस्कूलकेबच्चोंनेकहाकिवेयहांसेपढ़ाईपूरीकरनेकेबादआइआइटीवयूपीएससीमेंजानापसंदकरेंगे।

नवागतकुलपतिप्रो.जैननेयहांपरतैलंगलाइब्रेरी,काशीनरेशकाहालदेखा,मालवीयवएनीबेसेंटकीप्रतिमापरमाल्यार्पणकिया।परिसरस्थितदक्षिणमुखीहनुमानजीकेमंदिरमेंहाथजोड़करअर्चनाकी।इसमौकेपरआइआइटीबीएचयूकेनिदेशकप्रो.पीकेजैन,बीएचयूकेरजिस्ट्रारडा.नीरजत्रिपाठी,बीएचयूस्कूलबोर्डकेउपाध्यक्षप्रो.संजयश्रीवास्तव,स्कूलकीप्राचार्यनीरूबहलआदिमौजूदथी।

इससेपहलेकाशीहिंदूविश्वविद्यालयकेनवनियुक्तवबहुप्रतीक्षितकुलपतिप्रो.सुधीरकुमारजैनअपनीनियुक्तिके28दिनबादशुक्रवारकीदेररातविश्वविद्यालयपरिसरपहुंचे।इससेपहलेउन्होंनेश्रीकाशीविश्वनाथधाममेंदर्शनकिया।शनिवारकीसुबहबीएचयूपरिसरस्थितकाशीविश्वनाथमंदिरगए।यहांदर्शन-पूजनकरनेकेबादविश्वविद्यालयकेप्राध्यापकों,अधिकारियोंसेमुलाकातकिया।सभीमहत्वपूर्णविभागाें,संकायों,कालेजोंकाभ्रमणकिया।

मालूमहोकिमार्चमाहमेंविश्वविद्यालयकेकुलपतिप्रो.राकेशभटनागरकाकार्यकालपूराहोनेकेबादहुएस्थानांतरणकेपश्चातप्रो.वीकेशुक्लकोकार्यवाहककुलपतिनियुक्तकियागयाथा।तबसेवहइसपदकानिर्वहनकररहेथे।विश्वविद्यालयकेस्थायीकुलपतिकेलिएकईचक्रोंकीप्रक्रियाकेबादराष्ट्रपतिनेबीते13नवंबरकोप्रो.सुधीरकुमारजैनकेनामपरमुहरलगाई।आइआइटीगांधीनगर(गुजरात)केनिदेशकप्रो.जैनइसकेपूर्वकानपुरआइआइटीमेंभीसेवाएंदेचुकेहैं।उन्हेंएककुशलप्रशासकमानाजाताहै।किंतुबीएचयूकेकुलपतिपदपरनियुक्तिहोनेकेबादभीबनारसनहींआए।इधरविश्वविद्यालयप्रशासन,आचार्य,प्राध्यापकएवंछात्रस्थायीकुलपतिकीबाटजोहतेरहे।इसबीचप्रो.जैनलगातारविश्वविद्यालयकेअधिकारियोंकेसंपर्कमेंबनेरहे।उन्होंनेअधिकारियोंसेजूमपरमीटिंगकीऔरविश्वविद्यालयकेबारेमेंविस्तृतजानकारीली।इसकेबादबीतेतीनदिनपूर्वउन्होंनेसभीडीनएवंविभागाध्यक्षोंकीभीआनलाइनबैठकलीऔरविश्वविद्यालयकेकुलछात्रोंकीसंख्या,कुलफेकल्टी(पार्टटाइमएवंफुलटाइम),विश्वविद्यालयकीमजबूती,प्रत्येकविभागकीपांचबड़ीचुनौतियाें,सेल्फइंप्रूवमेंट्सकेपांचमानकोंऔरप्रशासनिकसहयोगकेबारेमेंविस्तृतजानकारीलीथी।